top of page

हर्षोल्लास के माहौल में राष्ट्रीय बालिका दिवस का हुआ आयोजन, बेटा-बेटी का भेदभाव होगा समाप्त-डीएम

सिने आजकल आरा- राष्ट्रीय बालिका दिवस पर पॉक्सो एक्ट-2012 का समाहरणालय में कार्यक्रम का आयोजन बुधवार को किया गया। उद्घाटन डीएम राज कुमार, डीपीओ (आईसीडीएस), जिला कल्याण अधिकारी, चाईल्ड हेल्प लाइन व अन्य ने संयुक्तरुप से किया। संचालन बाल विकास पदाधिकारी, चरपोखरी भोजपुर द्वारा की गई। इस दौरान डीएम ने आईसीडीएस द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के प्रसार-प्रसार के लिए हरी झंडी दिखाकर रवाना की। उन्होंने कहा कि आज हम सब पूरे हर्षोल्लास के माहौल में राष्ट्रीय बालिका दिवस का आयोजन कर रहे है। जिससे समाज में बेटा-बेटी में भेदभाव को समाप्त किया जा सके। समाज की बेटियो को बेहतर संसाधन मिल सके। साथ ही नवजात कन्या शिशुओं के माताओं को बेबी किट्स एवं प्रशस्ति पत्र का वितरण किया गया।

..

डीडीसी विक्रम विरकर ने कहा कि दिवस उसी का मनाते है, जो कमजोर होते है। परन्तु आज कि बेटिया कमजोर नहीं है। समाज में बेटा बेटियो के बीच भेदभाव समाप्त करने की जरूरत है। कहा कि बेटियो की सुरक्षा के लिए जूडो कराटे इत्यादि की ट्रेनिंग देते है, परन्तु बेटियो से पहले बेटो को प्रशिक्षण देना होगा। ताकि उनके आचरण, व्यवहार में सुधार हो सके। उनकी बेहतर शिक्षा के लिए इसरो, पार्लियामेंट, एम्स, आईआईटी जैसे संस्थानों में भेजा जाय। ताकि बेहतर स्किल सिखे। वे वहां जाकर देखे कि इन यहां कार्य कैसे होता है।

...

जिला कल्याण अधिकारी ने संविधान के समानता के अधिकार को बताते हुए कहा कि लिंग के आधार पर भेदभाव नहीं किया जाए। उन्होंने पोक्सो एक्ट के बारे में बताते हुए कहा कि किसी भी तरह का हिंसा होने पर चुप नहीं रहे आवाज़ उठाएं। उस व्यक्ति के ऊपर शिकायत दर्ज कराए। सुनीता सिंह ने महिला थाना एवं अपना नंबर सभी को उपलब्ध करते हुए कहीं की किसी भी प्रकार के हिंसा को आप तुरंत शिकायत दर्ज कराएं। हिंसा सहना भी एक प्रकार का अपराध है। अब सहना नहीं कहना है। इन्होने महिला हेल्पलाइन के बारे में भी जानकारी दी। शशि प्रकाश सरोज द्वारा पास्को एक्ट का विस्तृत जानकारी दी गई। इस एक्ट के अधीन विभिन्न अधिनियम के बारे में पीपीटी के माध्यम से जानकारी दी गई।

....

मौके पर नगर के यशोदा आर्य कन्या मध्य विद्यालय, डा नेमीचंद शास्त्री कन्या प्लस टू विद्यालय एवं पर्दा कन्या मध्य विद्यालय आरा के छात्राओं ने भाग लिया। सभी छात्राओं को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ लोगोयुक्त टोपी, टी-शर्ट का वितरण हुआ। छात्राओं द्वारा भाषण प्रतियोगिता, पेंटिंग प्रतियोगिता एवं अन्य प्रतियोगिता का आयोजन कराया गया। प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाली छात्राओं को बैग देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में सीडीपीओ, जिला परियोजना प्रबंधक महिला एवं बाल विकास निगम भोजपुर, जिला मिशन समन्वयक, लैंगिक विशेषज्ञ, जिला समन्वयक केंद्र प्रशासक, वन स्टॉप सेंटर, केस वर्कर, पर्यवेक्षिका व अन्य मौजूद थे।

सी मीडिया से कमलेश कुमार पांडेय

bottom of page