top of page

लय का चौथा स्तंभ पंडित बिरजू महाराज का कृतित्व : सिविल सर्जन

सिने आजकल भोजपुर बिहार-

एंकर। शिवादी क्लासिक सेंटर ऑफ आर्ट एण्ड म्यूजिक की ओर से स्थानीय कलक्ट्री तालाब स्थित लोक नायक मुक्त कला मंच पर पंडित बिरजू महाराज की स्मृति में " फोर्थ लय पंडित बिरजू महाराज" का आयोजन किया गया। इस् कार्यक्रम का उद्घाटन मशहूर चिकित्सक सह सिविल सर्जन भोजपुर डॉ. के. एन. सिन्हा, संगीत विदुषी डॉ. जया जैन, रंगकर्मी अशोक मानव, जैन कॉलेज के पूर्व प्राचार्य डॉ. चंद्रशेखर साहा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया। इस् अवसर पर भोजपुर के सिविल सर्जन डॉ. के.एन. सिन्हा ने कहा कि पंडित बिरजू महाराज का कृतित्व ही लय का चौथा स्तंभ है।

संगीत के क्षेत्र में पूरा विश्व पंडित बिरजू महाराज से परिचित है। पंडित बिरजू महाराज के योगदान को देखते हुये भारत सरकार को भारत रत्न से विभूषित करना चाहिये। वहीं सभी अतिथियों ने साहित्यकार स्व. रंजीत माथुर व संगीतज्ञ स्व. अरुण सहाय की छायाचित्र पर पुष्पांजलि कर श्रद्धांजलि दी। इस् अवसर पर मशहूर कथक नृत्यांगना आदित्या श्रीवास्तव ने अपने समूह के साथ महाराज ज़ी को साढ़े छः मात्रा में कई कंपोजीशन समर्पित किया। इसके पूर्व गौरी, अमृता व अंजली ने महाराज ज़ी द्वारा रचित ठुमरी 'सांवरा गिरधर मोहे मन भायो रे' प्रस्तुत कर समां बांधा। वहीं कथक नर्तक सह बीपीएस द्वारा चयनित नवनियुक्त नृत्य अध्यापक अमित कुमार व सुश्री स्नेहा पाण्डेय ने तीन ताल में उपज, ठाट, आमद, परन् व तिहाई प्रस्तुत कर तालियां बटोरी। आदित्या श्रीवास्तव ने साढ़े छः मात्रा में परन्, नटवरी टुकड़ा, तिहाई, गोपुच्छा, अनागत के बोल व ग़ज़ल " हर समां बुझने से पहले भड़कती जरूर है" पर भाव अभिनय प्रस्तुत कर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस् अवसर पर चित्रकार सह शिक्षा विभाग वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के प्रोफेसर सुकेश कुमार के नेतृत्व में चित्र प्रदर्शनी लगाई गई।

आस्था अंजलि, आयुषी कुमारी, तनु प्रिया, वंशिका, अंशिका कुमारी, अनिशा कुमारी, महिमा कुमारी, शुभम कुमार, दिव्यांशी कुमारी, अविनाश कुमार, वैष्णवी केसरी व अभिनव राज की अद्भुत कलाकृति देखकर श्रोता भाव विभोर हो उठे। चर्चित गायिका सह शिक्षिका कावेरी मोहन व रंगकर्मी सुश्री स्वयंबरा बक्शी ने सभी कलाकारों को स्मृति चिन्ह व पुष्पगुच्छ देकर सम्मानित किया। हारमोनियम पर संगत अजीत पाण्डेय ने किया। मंच संचालन बक्शी विकास व धन्यवाद ज्ञापन आयोजन अध्य़क्ष श्री अशोक मानव ने किया। इस् अवसर पर कवियित्री डॉ. किरण कुमारी, कवि श्री सिद्धार्थ वल्लभ, रंगकर्मी श्री श्रीधर शर्मा , तबला वादक राणा प्रताप सिन्हा समेत कई संगीत प्रेमी उपस्थित थे।

सी मीडिया आरा से संजय श्रीवास्तव

bottom of page