बारहमासा ने किया नाटक बोस का मंचन।


नई दिल्ली भारतीय इतिहास में सुभाष चन्द्र बोस सबसे महान व्यक्ति और बहादुर स्वतंत्रता सेनानी थे, भारत के स्वतंत्रता संघर्ष में उनका योगदान अविस्मरणीय है | वो वास्तव में भारत के सच्चे बहादुर हीरो थे, जिन्होंने अपनी मातृभूमि की खातिर अपना घर और आराम त्याग दिया | सुभाष चन्द्र बोस के संघर्ष और भारत के स्वाधीनता में योगदान को साकार करता “बोस” सुभाष चन्द्र बोस नाटक का सफल मंचन संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार के सहयोग से बारहमासा रंगमंडल द्वारा मुक्तधारा सभागार, गोल मार्केट में दिनांक 18 सितम्बर 2022 को किया गया | सशक्त अभिनय से बारहमासा के कलाकारों ने नेताजी के संघर्ष गाथा को दर्शकों तक पहुँचाया | मनु झा, मनीषा मिश्रा, पूनम सिंह, सुप्रिया सत्यम, नितीश कुमार झा, निर्भय कर्त्तव्य, रोहित कुमार अमन गुप्ता, शुभम, टेन्ज़ींन बोध, मायानन्द झा, राजेश कुमार ‘बेनी’, तरुण झा, रवित चावला, लालू कुमार, रौशन सिंह, ऋत्विक राज, करन चौहान ने अपने सशक्त अभिनय से प्रस्तुति को सफल बनाया | नाटक का संगीत दीपक कुमार ठाकुर तैयार किया था एवं प्रकाश राहुल चौहान का था | इस सफल प्रस्तुति का निर्देशन मुकेश झा ने किया था | दर्शकदीर्घा में कन्हैया चौधरी, सुनीत ठाकुर, अमर नाथ झा, उमाशंकर झा विमल जी मिश्रा, रंगकर्मी पवन कान्त झा श,ुभनारायण झा, सुधा झा आदि गण्यमान्य व्यक्ति उपस्थित थे |

रिपोर्ट-रिज़वान रज़ा नई दिल्ली

Cine Aajkal October Edition 2021

MAGAZINE COVER