दूरदर्शन के लोकप्रिय कार्यक्रम में विदुषी विमला देवी का गायन।

आरा भोजपुर बिहार

आरा की वरिष्ठ शास्त्रीय गायिका विदुषी विमला देवी के शास्त्रीय गायन का प्रसारण मंगलवार की संध्या को लोकप्रिय चैनल दूरदर्शन से किया गया । गौरतलब है कि विगत दिनों दूरदर्शन के कार्यक्रम शास्त्रीय संगीत कार्यक्रम में आरा की चर्चित गायिका विदुषी विमला देवी का गायन प्रस्तुतकर्ता श्री ए. एम पाठक के निर्देशन में रिकॉर्ड किया गया । इस कार्यक्रम में विदुषी बिमला देवी ने राग शुद्ध कल्याण में छोटा ख्याल "पिया पापी मोरा सौतन को भाए" ठुमरी निर्मोही सैयां कदर ना जाने" व झूला "प्रभु झूल रहे अपने ही रंग में सिया जी के संग में ना" को प्रस्तुत कर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया । इस प्रसारण में हारमोनियम पर कथक गुरु बक्शी विकास व तबले पर जमशेदपुर के पंडित दयानाथ उपाध्याय संगत करते नजर आये । 66 वर्ष की आयु में भी बिमला देवी की खनकदार आवाज, सुरीली गायकी व दानेदार तान की अनुगूंज अद्भुत रही । इस प्रसारण को देखकर पूरे देश भर से कलाकार, शिष्य व संगीत रसिकजनों ने बधाईयाँ दी हैं । विदुषी विमला देवी विगत दिनों झारखंड के सांगीतिक दौर पर थी जहाँ उन्होंने दूरदर्शन के साथ साथ जमशेदपुर व रांची के कई कार्यक्रमों में शास्त्रीय गायन से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया ।

विदुषी बिमला देवी की इस उपलब्धि पर अंतर्राष्ट्रीय विख्यात गायक पंडित राम प्रकाश मिश्र ने कहा कि जैसे जैसे उम्र ढलती है वैसे वैसे कला जवान होती है। विदुषी बिमला देवी की गायकी में इस बात की सार्थकता झलकती हैं । वहीं वरिष्ठ चिंतक श्री कृष्णा जी ने कहा कि विदुषी विमला देवी ने संगीत साधना के क्षेत्र में आदर्श स्थापित किया है, जिन्होंने सस्ती लोकप्रियता के लिए कभी शास्त्रीय संगीत की साधना नही छोड़ी ।

रिपोर्ट-सावन कुमार

Cine Aajkal October Edition 2021

MAGAZINE COVER